Now Reading
ऐसा देस है मेरा – II

ऐसा देस है मेरा – II

ऐसा देस है मेरा – II

जहां एक तरफ भारत में कई रंगों का मिलन हैं, तो वहीं दूसरी ओर विभिन्न अनुभवों का संगम भी है। कुछ ऐसे शानदार अनुभव हैं, जो आप सिर्फ भारत में ही पा सकते हैं, वो भी बिलकुल ‘मुफ्त’। यह कुछ ऐसी जगह हैं, जिन्हें देखकर आप हैरान रह जायेगे।

डॉल्फिंस से मिलें

उत्तर प्रदेश के ऊंचा गांव में डॉल्फिंस को गंगा नदी में उछलते-खेलते हुए देखिये। इस बेहद खूबसूरत नज़ारे को देखने आप यहां अप्रैल से मई के बीच में जायें और साथ में ऊंचा फोर्ट से खूबसूरत नज़ारा भी देख कर आयें।

डॉल्फिंस देखने का अनुभव |इमेज: फाइल इमेज

टॉयलेट के इतिहास को जानें

पढ़ने में शायद थोड़ा अजीब लगे लेकिन दुनिया का यह एक मात्र ऐसा म्यूज़ियम है, जो आम लोगों को सैनीटेशन सीट्स के इतिहास के बारे में बताता है। इस बार जब आप दिल्ली जायें, इसे बिना देखे मत आयें।

टॉयलेट्स का इतिहास |इमेज: फाइनेंशियल एक्सप्रेस

बिना रोक-टोक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पार करें

कभी सोचा है कि बिना वीज़ा पर पैसे खर्च किए आप विदेश घूम कर आ सकते हैं। आप चाहें तो फ्री में नेपाल घूम सकते हैं क्योंकि वहां भारतीयों के लिए ‘फ्रीडम ऑफ मूवमेंट’ है। यहां की प्रचीन बुद्धिस्ट मॉनेस्ट्री और सुंदर लैंडस्केप्स आपका दिल छू लेंगे।

See Also

दूसरे देश की सैर |इमेज: फाइनेंशियल एक्सप्रेस

वाघा बॉर्डर पर ‘सेरेमनी ऑफ नेशन्स गार्ड’ देखें

‘लोअरिंग ऑफ फ्लैग्स’ या ‘दि बीटिंग रिट्रीट’ एक ऐसी सेरेमनी हैं, जिसे हर भारतीय देश प्रेमी को ज़रूर देखना चाहिए। यह ड्रिल हर रोज़ होती है, जिसके बाद युद्धाभ्यास जैसे प्रभावशाली स्टेप्स का प्रदर्शन किया जाता है। यह भारत और पाकिस्तान, दोनों देशों के बीच भाईचारे और सहयोग का प्रतीक है।

गर्वित करने वाला पल | इमेज :फाइल इमेज

ज़ुलुक लूप्स के 96 मोड़ देखें

ज़ुलुक ईस्ट सिक्किम का एक गांव है, जो अपने 96 घुमाव वाले रास्ते के लिए जाना जाता है। यह रास्ता भारत-चीन की सीमाओं से गुज़रता है, जहां से बर्फ से ढ़की सड़कें और कंचनजंगा पहाड़ का खूबसूरत नज़ारा दिखाई देता है।

रोमांचभरा अनुभव | इमेज: यूट्यूब

देसी ओलंपिक्स देखें

पंजाब में होने वाले रूरल ओलंपिक्स का दृश्य देखने लायक होता है। लड़कियां परादी पहनकर गिद्दा करती हुई नज़र आती हैं और लड़के बुलट मोटरसाइकल पर करतब के ज़रिए अपना साहस दिखाते हैं। इसके साथ ही वह गटका की कला का प्रदर्शन भी करते हैं, जिसमें तलवार के ज़रिए अपनी रक्षा करनी होती है। यह उत्सव चार से सात फरवरी के बीच मनाया जाता है।

देसी ओलंपिक्स | इमेज: फाइल इमेज

जुगनुओं का नृत्य देखें

मुंबई से करीब 180 किलोमीटर दूर पुरुषवादी में जुगनुओं का जादुई नृत्य ज़रूर देखें। फायर फ्लाई फेस्टिवल के नाम से जाने गए, इस उत्सव में शामिल होने के लिए मई से जून के बीच एक रात के लिए कैंपिग करिए।

चमचमाती रातें | इमेज: फाइल इमेज

क्या आपको पता था कि हमारे देश में इतना कुछ हैं, जिसके बारे में बताकर आप गौरवाविंत महसूस कर सकते हैं। यही कारण है कि इसे हम ‘अतुल्य भारत’ कहते है।

और भी पढ़े: ऐसा देस है मेरा – I

अब आप हमारे साथ फेसबुक और इंस्टाग्राम पर भी जुड़िए।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ