आलस भगाने के 7 उपाय

  • आसान तरीकों से आप खुद को बना सकते है चुस्त दुरूस्त

आलस इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन है, फिर भी क्यों हर कोई कहीं न कहीं जीवन के किसी मोड़ पर इसकी चपेट में आ ही जाता है। वैसे अगर देखा जाए, तो हमारी गलत जीवनशैली कारण आता है। अगर लाइफस्टाइल सही न हो, तो आपको हर रोज़ आलसपन महसूस होगा।

कुछ आसान से उपायों की मदद से अपने जीवन से आलस को पूरी तरह हटा सकते हैं और खुद को तरोताज़ा महसूस कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में।

बिना लक्ष्य के न करें कोई काम

हर व्यक्ति का एक लक्ष्य होता है। जब भी आप आलसपन महसूस करें, तो तुंरत खुद के लक्ष्य को याद करें। ऐसा करने से आप खुद में शक्ति महसूस करेंगे। अगर आपने अब तक कोई लक्ष्य नहीं बनाया है, तो आज ही अपना लक्ष्य बनाये।

काम को छोटे – छोटे हिस्सों में बांटे

कई बार किसी बड़े काम को देखकर भी डर लगता है कि यह काम पूरा हो पाएगा या नहीं। अगर ऐसा लगें, तो काम को छोटे – छोटे हिस्सों में बांट लें, ऐसा करने से वही काम आसान हो जायेगा। धीरे – धीरे सभी कामों को समय पर पूरा करें। जैसे- जैसे काम पूरा होगा आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आलस दूर होता जाएगा।

See Also

काम एक लक्ष्य बनाये और उस पर काम करना शुरु करें |इमेज : फाइल इमेज

काम को दूसरे दिन पर न टालें

लोग अक्सर आज के काम को कल के लिए टाल देते हैं। लेकिन यह आदत धीरे-धीरे एक लत बन जाती है और फिर यही लत आलस का रुप लेती है। अगर आप इससे बचना चाहते हैं, तो आज के काम को कल पर टालना छोड़ दें। हो सकें तो सारे काम आज ही पूरा करें।

काम को न समझें बोझ

कई बार आलस्य की वजह से अपने काम को बोझ मानने लगते हैं। ऐसा करने से काम पूरी तरह से रुक जाता है। लेकिन अगर आपको अपना काम काफी बड़ा लग रहा है, तो उससे मुंह ना मोड़ें बल्कि उसे करने की कोशिश करें। पॉज़िटिव सोच लेकर काम करने से आप कई हद तक आलस से छुटकारा पा सकते हैं।

हमेशा पॉजिटिव सोचे

जब भी आलस पास आये, तो मन पॉज़िटिव सोच लाये। अगर आप पॉज़िटिव सोचने लगेंगे, तो नकारात्मक नाम की आलस दूर होगी। खुद पॉज़िटिव रखने के लिये हमेशा कोई संगीत सुने या मोटिवेशन किताबे पढ़ें।

खानपान रखें संतुलित

सुबह समय पर पेटभर नाश्ता करने से एनर्जी बनी रहती है। दोपहर और रात को डिनर थोड़ा हल्का की करने से थकान नहीं होती और आलस नहीं होता।

मेडिटेशन करें

रोज़ केवल 10 – 15 मिनट तक मेडिटेशन या योगा करने से थकान दूर रहती है। मन और दिमाग दोनों सेहतमंद रहते  हैं।

समय पर सोएं

अक्सर कई लोग घंटों तक टीवी या सोशल मीडिया देखते हैं। जिस कारण उन्हें नींद नहीं आती और नींद का रुटीन बिगड़ जाता है, जिससे स्वास्थ्य पर भी काफी असर पड़ता है। नींद से जुड़ी यह आदतें  शरीर में आलस्य को बढ़ा देती हैं। दिन भर के काम के बाद शरीर को आराम देना ज़रुरी होता है। इसलिए अपने शरीर को आलस से दूर रखने के लिए समय पर सोएं।

और भी पढ़िये : पर्यावरण और सेहत दोनों के लिए फायदेमंद है साइकलिंग

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और  टेलीग्राम  पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
3
बहुत अच्छा
1
खुश
0
पता नहीं
3
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ