Now Reading
कब्ज से राहत के लिए रोज़ करें ये 4 योगासन

कब्ज से राहत के लिए रोज़ करें ये 4 योगासन

  • कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए आप कोई भी योगासन कर सकते हैं, ये काफी फायदेमंद है

कब्ज की समस्या आजकल हर उम्र के लोगों को हो रही है। कब्ज का मुख्य कारण होता है खान-पान की गलत आदते। इससे बचने के लिए आपको भोजन में फाइबर युक्त चीज़ों को तो अधिक मात्रा में शामिल करना ही चाहिए, साथ ही नियमित रूप से योगासन करने से भी कब्ज से राहत मिलती है। योग में कुछ आसन ऐसे हैं जिनके नियमति अभ्यास से कब्ज और एसिडिटी की समस्या दूर होती है।

उदराकर्षणासन

यदि आपको अक्सर कब्ज की समस्या होती है तो आपको यह आसन ज़रूर करना चाहिए। यह पेट  के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है।

कैसे करें?

– दोनों घुटनों को मोड़कर एड़ी और पंजों पर बैठें। अपने हाथों को घुटनों पर रखें।

– गहरी सांस लें और फिर सांस छोड़ते हुए दाहिने घुटने को बाएं पंजे के पास जमीन पर टिकाकर रखें और बाएं घुटने को सीने की ओर दबाएं।

– अब पूरे शरीर और गर्दन को बाई ओर घुमाएं। ऐसा करते समय दायां घुटना बाएं पंजे के पास ही होना चाहिए।

See Also

– जितनी देर हो सके इस अवस्था में रुकें, फिर सांस लेते हुए सामान्य अवस्था में लौट आएं।

– इसी तरह दूसरे पैर के साथ अभ्यास करें।

संबंधित लेख : योग का अभिन्न हिस्सा है मेडिटेशन

2. अधोमुखश्वानासन

इस आसन को करने से पूरे शरीर की स्ट्रेचिंग हो जाती है और आपको कब्ज से राहत मिलती है।

कैसे करें?
  • इस आसन को करने के लिए पहले घुटनों के बल खड़े हो जाएं। और आगे की ओर झुकते हुए हाथों को जमीन पर रखें।
  • आपके शरीर का आकार अंग्रेज़ी के V अक्षर (उल्टा V) जैसा होना चाहिए।
  • इसके लिए पंजे पर दबाव डालते हुए घुटनों को सीधा रखें और कमर के नीचे का हिस्सा ऊपर की तरफ उठाएं। सिर नीचे की ओर होना चाहिए
  • हाथों को आगे करते हुए शरीर से उल्टे वी (V) का शेप बनाएं। सिर नीचे झुका रहे।
  • कुछ देर इसी पोजीशन में रहें और फिर सांस छोड़ते हुए सामान्य अवस्था में लौट आएं।

3. अर्ध मत्स्येंद्रासन

रीढ़ की हड्डी को सीधा रखने के साथ ही यह लीवर को डिटॉक्सिफाई करने में मदद करता है। इसके नियमित अभ्यास से कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।

कैसे करें?
  • सबसे पहले दोनों पैरों को सीधी करके बैठ जाए। अब दाएं पैर को मोड़ते हुए बाएं जांघ के पास लाएं। बाएं घुटने को खड़ा करें दाएं घुटने के ऊपर से ले जाकर ज़मीन पर टिका दें।
  • ध्यान रहे इस दौरान आप बिल्कुल सीधे बैठे होने चाहिए यानी रीढ़ सीधी होनी चाहिए।
  • अब दाएं हाथ को बाएं घुटने के ऊपर से लाते हुए बाएं जांघ पर रखें और बायां हाथ पीठ के पीछे रखें। फिर अपनी ठुड्डी को बाएं कंधे की ओर ले जाएं।
  • इस स्थिति में करीब 30 सेकंड तक रुकें फिर सामान्य अवस्था में लौट आएं।
  • दूसरी तरफ भी इसे दोहराएं

4. पवनमुक्तासन

यह आसन करने से गैस और कब्ज की परेशानी दूर होती है।

कैसे करें?
  • इसे करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल सीधा लेट जाएं।
  • अब शरीर को ढीला छोड़ें और सांस लेते हुए दोनों घुटनों को हाथों की मदद से मोड़कर सीने की ओर लाएं। ऐसे करते हुए घुटने को इतना मोड़ें कि आपकी सिर घुटनों पर टिक जाए।
  • इस अवस्था में कुछ देर के लिए रहें (कम से कम 30 सेकंड) फिर सांस छोड़ते हुए सामान्य अवस्था में लौट जाएं।
  • 8-10 बार इसका अभ्यास करने से आपको फायदा होगा।

इन सभी आसनों का नियमित अभ्यास करने के साथ ही आपको अपने खान-पान का भी विशेष ध्यान रखने ज़रूरी है।

और भी पढ़िये : पर्यावरण से करते हैं इतना प्यार, लोग कहते हैं ‘ग्रीन मैन’

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और टेलीग्राम  पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
1
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ