Now Reading
देश के इन 4 राज्यों के नामों का क्या है मतलब?

देश के इन 4 राज्यों के नामों का क्या है मतलब?

  • जानिये कैसे मिला राज्यों को नाम ?

भारत की खूबसूरती इसके रिश्ते, प्यार और अपनेपन में ही नहीं है, बल्कि यहां की हर वादी में है। । अब उत्तर -पूर्व के राज्यों को ही ले लीजिए, इसे सात बहनों की भूमि के नाम से जाना जाता है।

भारत में आपकी यात्रा तब तक अधूरी है, जब तक कि आप लैंड ऑफ सेवन सिस्टर्स नहीं घूम आते। सेवन सिस्टर राज्य में अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और त्रिपुरा है और अब तो इसमें सिक्किम भी शामिल हो गया है।

अरुणाचल प्रदेश

पहाड़ों से घिरा अरुणाचल प्रेदश|इमेज : फाइल इमेज

‘अरुण’ संस्कृत शब्द है, जिसका मतलब सूरज की ज्योति और ‘चल’ पहाड़ों से घिरा हुआ। क्या आप जानते हैं कि भारत में सबसे पहले सूरज कहां से निकलता है? भारत के इस राज्य को सुबह की ज़मीन भी कहा जाता है और ये है अरुणाचल प्रदेश।

इसे 20 फरवरी, 1987 में पूर्ण राज्य का दर्जा हासिल हुआ था। इसकी राजधानी ईटानगर है, जिसका  मतलब है ईटों का किला। इसे 14वीं सदी में बनाया गया था। अरुणाचल प्रदेश में तवांग एक ऐसी जगह है, जो आध्यात्मिकता की खुशबू से लिपटी अपनी कुदरती सुंदरता से सभी टूरिस्टों का मन मोह लेती है। यह सुंदर मठों और दलाई लामा के जन्म स्थान के रूप में प्रसिद्ध है।

See Also

असम

सुंदर है ये चाय के बगान |इमेज : फाइल इमेज

इस शब्द को ‘अहोम’ राजवंश से लिया गया है। जिन्होंने लगभग छह सौ साल तक असम पर राज किया था। इसी कारण इस राज्य का नाम असम रखा गया। अगर इस राजवंश को करीब से देखना चाहते हैं, तो असम की यात्रा ज़रूर करें।
असम केवल चाय के बागानों के लिये ही नहीं, बल्कि धार्मिक डेस्टिनेशन के साथ नेचर का अपना अलग ही नज़ारा है। बीहू असम का एक उत्सव है, जिसे एक बार नहीं, बल्कि तीन बार मनाया जाता है। इस दौरान असम के लोगों की रौनक देखते ही बनती है।

मणिपुर

मणिपुर की चमकती झीलें |इमेज : फाइल इमेज

यह तो नाम से ही पता चलता है कि यह मणियों का शहर है। ऐसा इसलिये क्योंकि यह राज्य घाटियों और चमकती हुई झीलों से घिरा है, मानों भारत के सिर पर मणि के समान शोभा दे रहा हो।मणिपुर की राजधानी इम्फाल है, जो 7 पहाड़ियों से घिरा हुआ है। टिकेंजित पार्क और वॉर सिमेट्री यहां के खास दर्शनीय जगहों में से एक है।

वॉर सिमेट्री को दूसरे विश्व युद्ध के दौरान शहीद हुए भारतीय और ब्रिटिश सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया गया था, जिसे शहीद मीनार के नाम से जाना जाता है। यह जगह बेहद शांत है और इसे स्टोन मार्कर के जरिए अच्छी तरह से रखा गया है, जिसमें शहीद सैनिकों के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। 

मेघालय

मन मोहने वाले सुंदर प्राकृतिक नज़ारे हैं मेघालय में |इमेज : फाइल इमेज

यह राज्य बादलों का घर है, ‘मेघ’ को सरल भाषा में बादल और ‘आलय’ मतलब घर इसलिये यह बादलों का घर है। घने जंगल, सुंदर प्राकृतिक नज़ारे, बादलों से ढके पहाड़ आदि इसे परफेक्ट टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाते हैं। यहां कई प्रकार के जीव-जंतु और वनस्पति आपको कभी न भूलने वाला अनुभव दिलाएंगे। बादलों घिरे होने के कारण यहां पूरे साल बरसात होती है। यहां पहाड़ों पर छाई हरियाली यकीनन आपका मन मोह लेगी।

सात बहनों के बाकी राज्यों की कहानी हम आपको सीरीज़ के अगले लेख में बताएंगे।

और भी पढ़िये : क्या आप एक समझदार माता-पिता हैं?

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्रामट्विटर और टेलीग्राम पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ