Now Reading
नींद न आने से हैं परेशान, अपनाएं ये तरीके आसान

नींद न आने से हैं परेशान, अपनाएं ये तरीके आसान

  • घरेलू नुस्खे अपनाकर नींद की परेशानी करें दूर

सुबह सवेरे उठ जाना, दिन भर काम करना और रात को आराम से सो जाना, यह जितना अच्छा  लग रहा है, उतना है नहीं। न जाने कितने ऐसे लोग हैं, जो सुबह से लेकर रात तक जी तोड़ मेहनत तो कर लेते हैं, लेकिन जब आराम से सोने का वक्त आता है, तो वो सो नहीं पाते। कई लोग इस परेशानी को सिर्फ कुछ समय के लिए महसूस करते हैं, जैसे कि जब एग्ज़ाम आ रहे हो, कोई काम की डेड लाइन आ रही हो, या किसी तरह का मन में तनाव हो। लेकिन कुछ लोगों को लंबे समय तक नींद न आने की परेशानी का सामना करना पड़ता है। वो कितनी भी कोशिश कर लें, रात भर जागते रहते हैं। नींद न आने की परेशानी को ‘इनसोमिनया’ के नाम से भी जाना जाता है।

जानिए घरेलू नुस्खे

माइंडफुलनेस मेडिटेशन

इसमें आपको धीमी और लगातार सांस लेनी है और आपको अपना सारा ध्यान अपनी सांस, अपने शरीर, भावनाओं, विचारों पर केंद्रित करना होता है। माइंडफुलनेस मेडिटेशन के कई सेहत से जुड़े फायदे है और यह आपकी जीवनशैली को बेहतर बनाने के साथ अच्छी नींद के लिए भी ज़िम्मेदार है। इससे तनाव कम होता है, एकाग्रता बढ़ती है और इम्युनिटी भी बेहतर होती है।

मंत्र उच्चारण

आप किसी भी भाषा में कोई एक मंत्र का बार-बार उच्चारण कर सकते हैं। ऐसा करने से आपका मन शांत होता है। आप इस मंत्र को दिन में कभी भी दोहरा सकते हैं और खासकर रात को सोने के समय भी इसका उच्चारण कर सकते हैं। इसका पालन करने से आपको एक हफ्ते में अपनी नींद न आने की परेशानी में गिरावट देखने को मिल सकती है।

See Also

मन रहता है शांत | इमेज : फाइल इमेज
योगा

योगा का अच्छी नींद पर गहरा प्रभाव माना जाता है। इससे तनाव कम होता है, आपके शरीर सही तरीके से काम करता है और आपका दिमाग बेहतर तरीके से किसी जगह फोकस कर पाता है। नींद लाने के लिए ऐसे आसनों को चुनें, जिनमें सांस पर ध्यान देना शामिल हो और शारिरिक कसरत कम हो।

मसाज

मसाज से आपकी मसल्स रिलैक्स होती हैं और तनाव कम होता है। किसी प्रोफेश्नल से मसाज करवाएं। हालांकि मसाज एक सेफ ऑप्शन है, लेकिन फिर भी आप आपने डॉक्टर से पहले बात कर लें।

मैग्नीशियम

यह एक प्राकृतिक तत्व है, जो आपकी मसल्स को रिलैक्स करता है और तनाव को कम करता है। इससे आपका सोने का तरीका बेहतर होता है। एक शोध के अनुसार दो महीनों तक हर रोज़ 500 एमजी तक मैग्नीशियम लेने से नींद न आने के लक्षण कम होते हैं। पुरुष 400 एमजी तक रोज़ ले सकते हैं, तो वहीं महिलाएं 300 एमजी तक ले सकती हैं। आप मैग्नीशियम फ्लेक्स को नहाने के पानी में भी डाल सकते हैं, जिससे आपकी त्वचा इसे सोख लें। इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते है, इसलिए शुरु करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

और भी पढ़िये : रद्दी से ओल्ड एज होम चला रहे हैं पुणे के डॉक्टर कपल

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्रामट्विटर और टेलीग्राम पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
1
बहुत अच्छा
0
खुश
1
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ