Now Reading
पानी पीने के भी होते हैं नियम-कायदे

पानी पीने के भी होते हैं नियम-कायदे

  • कैसे और कब पीना है पानी?

बड़े लोग अक्सर कहते हैं कि सुबह उठते ही पानी पियों, कुछ लोग कहते हैं कि खाने के बीच में पानी मत पियो, डाइट पर ध्यान देने वाले लोग कहते हैं कि खाने से पहले ही पानी पी लो आदि। इतनी सारी सलाहों के बीच किसी भी व्यक्ति का कंफ्यूज़ हो जाना स्वभाविक है। ऐसे में आज हम आपको पानी पीने के कुछ आयुर्वेदिक नियम-कायदे बताएंगे।

अपने शरीर का सुनें

अगर आप प्यासे हैं, तो फौरन पानी पिएं। जब-जब आपको प्यास लगती है, पानी पिएं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें ज़्यादा प्यास नहीं लगती। ऐसे में परेशान न हों, अपने शरीर की सुनें, जितनी ज़रूरत हैं, उतना पानी पिएं। अपनी किडनियों को जबरदस्ती बोझ न दें।

सूरज उगने से पहले पानी पिएं

इसका मतलब है कि सूर्योदय से पहले, खाली पेट पानी पिएं। ऐसा करने से आप कब्ज़, ह्रदय रोग, गर्भाशय की परेशानियां, त्वचा रोग और बाल संबंधी परेशानियों से दूर रहेंगे। आपकी 8 अंजली में जितना पानी आता हैं, लगभग उतना पानी आपको पीना चाहिए। वात और पित्त वाले लोग / पतले लोग रात को सोने के बर्तन या मिट्टी के बर्तन में पानी भर के रखें और सुबह पिएं। कफ वाले लोग / मोटे लोग तांबे के बर्तन में पानी भर के रखें और उठकर पानी पी लें।

See Also

जितना ज़रूरी है उतना ही पानी पियें |इमेज : फाइल इमेज

खाना खाने और पानी पीने के बीच कितना हो अंतर

खाना खाने से पहले ज़्यादा पानी पीने से आपको कमज़ोरी आने लगेगी क्योंकि आप पर्याप्त खाना नहीं खा सकेंगे। खाने के बीच थोड़ा-बहुत या पानी नहीं पीने से आपके शरीर पर कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा और खाने के तुरंत बाद पानी पीने से मोटापा बढ़ता है। जिन खाने की चीज़ों में पानी की मात्रा ज़्यादा होती है, उनको खाने के आगे या पीछे, पानी बिलकुल न पिएं। अगर खाना भारी हो, उसे खाते समय थोड़ा पानी भी पी लें, इससे खाने को पचाने में मदद मिलेगी। याद रखें पानी बहुत ज़्यादा न पिएं। खाना खाने से पहले, बीच में और बाद में अगर दवाई खानी हो, तो ज़रूर खाएं, पानी जितना ज़रूरी हो, केवल उतना ही पिएं।

आप खाने से 40 मिनट पहले और 2 घंटे बाद, बेफिक्र होकर पानी पी सकते हैं।

पानी को भी आराम से स्वाद लेकर पिएं

जिस तरह आप खाने का स्वाद लेकर खाते हैं, ठीक उसी तरह पानी भी घूंट-घूंट कर के स्वाद लेते हुए पिएं। पानी में कई पोषक तत्व होते हैं, जो एक तरह से पानी को भी खाने की तरह ज़रूरी और खास बनाते हैं, इसलिए बैठ कर पानी पिएं।

और भी पढ़िये : बेंगलुरु में रहते हैं,तो कुछ इस तरह बनाएं छुट्टी को फन डे

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्रामट्विटर और टेलीग्राम पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
1
बहुत अच्छा
2
खुश
1
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ