Now Reading
हंसी को क्यों कहते हैं सबसे अच्छी दवा?

हंसी को क्यों कहते हैं सबसे अच्छी दवा?

  • हंसी के कई ऐसे फायदे जिन्हें शायद आप नहीं जानते थे

पुरानी अंग्रेज़ी कहावत है, ‘लाफ्टर इज़ द बेस्ट मेडिसिन’ यानी हंसी सबसे अच्छी दवा है। आपके चेहरे की मुस्कान न सिर्फ दूसरों को, बल्कि खुद आपको भी अच्छा महसूस कराती है। एक छोटी सी मुस्कान आपकी सुंदरता बढ़ाने के साथ ही आपकी सेहत भी ठीक रखती है। हंसी कई मर्ज़ की सस्ती दवा है, लेकिन आजकल अपनी ज़िंदगी में हम इस कदर उलझ गए हैं कि हंसना ही भूल गए हैं। अगर आप भी खुश और स्वस्थ रहना चाहते हैं तो आज से खुलकर हंसने की कोशिश करिए।

हंसी के फायदे अनेक

हंसी को यूं ही दवाई नहीं कहा जाता है, हंसना आपके मन और शरीर दोनों के लिए बहुत फायदेमंद होता है और यह बात कई वैज्ञानिक शोध से भी स्पष्ट हो चुकी है।

पूरे शरीर को सुकून देता है

जब आप दिल खोलकर हंसते हैं, तो आपका शारीरिक और मानसिक तनाव दूर होता है और मांसपेशियां रिलैक्स होती हैं, मगर ऐसा तब नहीं होता जब आप बनावटी हंसी हंसते हैं। हंसने का मतलब है दिल से खुलकर हंसना।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

कई अध्ययन के मुताबिक, हंसी स्ट्रेस हार्मोन को कम करके शरीर में इम्यून सेल्स और इंफेक्शन से लड़ने वाली एंडीबॉडीज़ का अधिक निर्माण करती हैं जिससे बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है।

See Also

संबंधित लेख : हंसी के फायदे अनेक

हंसो और हंसाओं |इमेज : फाइल इमेज

फील गुड हार्मोन का स्राव

एक अध्ययन के मुताबिक, दिल खोलकर हंसने से शरीर में एंडोर्फिन हार्मोन जिसे फील गुड हार्मोन भी कहा जाता है, का स्राव होता है जिससे आप अच्छा महसूस करते हैं और यहां तक कि कुछ देर के लिए आपकी शरीर के दर्द से भी राहत मिल जाती है।

करे दिल की हिफाज़त

हंसने से रक्त वाहिकाएं सुचारू रूप से काम करती हैं और रक्त प्रवाह ठीक तरह से होता है। यह दिल से जुड़ी बीमारियों से हिफाज़त करता है, जाहिर है हंसने से जब तनाव कम होता है तो आपका दिल भी सेहतमंद रहता है।

रिश्तों को करे मज़बूत

एक अध्ययन के मुताबिक, ऐसे जिंदादिल कपल्स जो साथ में ज़्यादा हंसते हैं उनका रिश्ता दूसरों के मुकाबले अधिक मज़बूत और गहरा होता है।

कैलोरी बर्न करता है

आपको जानकर हैरानी होगी कि हंसने से आपका मोटापा भी कम हो सकता है। एक रिसर्च के मुताबिक, 15 मिनट तक हंसने से 10-40 कैलोरी तक बर्न हो सकती है। तो आज से खुलकर हंसिए।

संक्रामक है हंसी

हंसी संक्रामक होती है, जैसे एक हंसते हुए व्यक्ति को देखने पर सामने वाले के चेहरे पर हंसी अपने आप आ जाती है। आपने कई लोगों को समूह में लाफ्टर योग करते देखा होगा इससे सोशल बॉन्डिंग बढ़ती है और ग्रुप में शामिल लोगों में अपनेपन और सुरक्षा की भावना आती है।

हंसने का बहाना तलाशिए

माना कि आप काम में बहुत बिज़ी रहते हैं, लेकिन थोड़ा वक्त अपने लिए निकालिए और हंसी का बहाना तलाशिए।

  • दोस्तों के साथ गप्पे मारिए
  • पुरानी सुनहरी यादों को ताज़ा करें
  • कॉमेडी सीरियल देखें
  • फनी वीडियो देखें
  • घर-परिवार के साथ चुटकले और मज़ाक मस्ती करिए।

और भी पढ़िये : देश के दक्षिणी 4 राज्यों के नामों का क्या है मतलब?

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और टेलीग्राम  पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
1
बहुत अच्छा
2
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ