Now Reading
आखिर क्यों ज़रूरी है इलेक्ट्रिक वाहन खरीदना?

आखिर क्यों ज़रूरी है इलेक्ट्रिक वाहन खरीदना?

  • अगर आप बिना धुएं और कम खर्चें का वाहन चाहते हैं, तो इलेक्ट्रिक है सबसे अच्छा विकल्प

ग्लोबल वॉर्मिंग आज की तारीख में पूरी दुनिया के लिए सबसे ज़्यादा चिंता का विषय बना हुआ है और यदि समय रहते इस दिशा में ठोस कदम नहीं उठाए गए, तो इसके गंभीर परिणाम हम सबको भुगतने पड़ेगे। ग्लोबल वॉर्मिंग के खतरे को बढ़ाने में गाड़ियों से निकलने वाले जहरीले धुएं की भी अहम भूमिका है, यही वजह है कि डीजल/पेट्रोल वाली गाड़ियों की बजाय इलेक्ट्रिक वाहनों को तवज्जो दी जा रही है। वैसे तो 1890 में ही पहली इलेक्ट्रिक कार बन गई थी, मगर उसकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत वर्तमान हालात में नज़र आती है। हम सबको इलेक्ट्रिक वाहन क्यों खरीदना चाहिए इसकी कई वजहे हैः

खर्च कम होगा

इलेक्ट्रिक कार को खरीदते समय आपको भले ही थोड़ा ज़्यादा पैसा देना होगा, लेकिन लंबे समय में यह किफायती साबित होगी। क्योंकि इसका मेंटेनेंस खर्च पेट्रोल वाली गाड़ियों से कम होता है और एक बार इसे बस चार्ज करना होगा, पेट्रोल/डीजल भराने में पैसे खर्च नहीं होंगे।

मेंटेनेंस की ज़्यादा ज़रूरत नहीं

दूसरे मैकेनिकल गाड़ियों की तुलना में इलेक्ट्रिक वाहन में मेकैनिकल पार्ट्स कम होते हैं इसलिए गाड़ी के खराब होने की संभावना भी कम रहती है। यानी बार-बार किसी पार्ट्स को बदलवाने की ज़रूरत नहीं पड़ती है और यदि कुछ खराबी होती भी है तो आसानी से ठीक हो जाती है।

See Also

पर्यावरण बचाने के दिशा में इलेक्ट्रिक वाहन है अच्छा |इमेज : फाइल इमेज

आरामदेह

कुछ लोगों का मानना है कि इलेक्ट्रिक वाहन से सफर करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि बीच में ही चार्ज खत्म हो गया तब क्या करेंगे । तो हम बता दें कि हर इलेक्ट्रिक वाहन में रेंज मीटर लगा होता है, जो आपको बताता है कि आप और कितने किलोमीटर तक जा सकते हैं, तो गाड़ी निकालने से पहले उसे फुल चार्ज कर लें। इसका एक फायदा यह भी है कि इसे आप आसानी से घर पर कभी भी चार्ज कर सकते हैं, बिल्कुल अपने फोन की तरह।

हाई क्वालिटी परफॉर्मेंस

इलेक्ट्रिक कार बिना आवाज़ में अच्छे से चलती है। मकैनिकल इंजन की तुलना में इलेक्ट्रिक मोटर जल्दी और आसानी से स्टार्ट हो जाता है और परफॉर्मेंस भी अच्छी होती है। इलेक्ट्रिक वाहन से धुआं नहीं निकलता है साथ ही ध्वनि प्रदूषण भी कम होता है।

कार्बन फुटप्रिंट कम होता है

ईपीए के मुताबिक, ट्रेडिशनल गैस फ्यूल वाले वाहन औसतन  मेट्रिक टन कार्बन डाईऑक्साइड छोड़ते हैं, जबकि इलेक्ट्रिक वाहन बिल्कुल भी कार्बन डाईऑक्साइड रिलीज़ नहीं करते हैं।

अगर आप किफायत के बारे में नहीं सोचते तो कम से कम पर्यावरण के बारे में सोचिए, क्योंकि पर्यावरण बचाने के दिशा में इलेक्ट्रिक वाहन एक बेहतरीन विकल्प है।

और भी पढ़िये : अपनी आंखों को थकान से दूर रखने के लिए अपनाएं ये तरीके

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्रामट्विटर और टेलीग्राम पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ