Now Reading
पहली बार मेडिटेशन करने वालों के लिए कुछ ज़रूरी बातें

पहली बार मेडिटेशन करने वालों के लिए कुछ ज़रूरी बातें

  • कैसे करें मेडिटेशन की शुरुआत

कुछ नया शुरू करने का खुद से वादा करना तो आसान है, लेकिन असलियत में उसे शुरू करना थोड़ा मुश्किल काम होता है, क्योंकि आमतौर पर हम सबकी आदत होती है, “आज नहीं, कल से करते हैं” और फिर वह कल कभी आता ही नहीं है। यदि आप भी मेडिटेशन शुरू करने की सोच रहे हैं, तो इसे कल पर मत टालिए, बल्कि आज, अभी से शुरू कर दीजिए।

सिर्फ 5 मिनट का समय निकालें

शुरू में कोई भी चीज़ मुश्किल लगती है, इसलिए पहली बार में 15-20 मिनट बैठने की बजाय आप 3 से 5 मिनट तक बैठकर ध्यान लगा सकते हैं, लेकिन ऐसा आपको रोज़ाना करना होगा। इससे होगा यह है कि दूसरे हफ्ते में आपका ध्यान का समय 5 से 10 मिनट कर सकते हैं और इसी तरह इसे बढ़ाते जा सकते हैं।

हर दिन सुबह करें ध्यान

आप रोज़ मेडिटेशन के बारे में सोचते हैं, लेकिन पूरे दिन काम में उलझकर इसे भूल जाते हैं, तो हर सुबह उठते ही बिस्तर पर या घर की किसी एकांत जगह में बैठकर 10-15 मिनट के लिए मेडिटेशन कर लें, इससे यह आपके रूटीन में शामिल हो जाएगा।

संबंधिच लेख : मेडिटेशन करते समय इन बातों का रखें ध्यान

See Also

ध्यान के लिए केवल 5 -10 मिनट का निकालें समय | इमेज : फाइल इमेज

ज़्यादा कन्फ्यूज़ न हों

कई बार लोग कन्फ्यूज़ हो जाते हैं कि मेडिटेशन के लिए कहां और कैसे बैठना है, इसे कब करना है आदि? लेकिन ये सारी चीज़ें महत्वपूर्ण नहीं है, सबसे अहम है शुरुआत करना, तो आपको जहां भी सहज लगे, बेड पर, सोफे या कुर्सी पर बैठकर ध्यान लगाएं। इसके बाद अपनी सुविधानुसार एक समय और जगह तय कर लें और रोजाना उसे फॉलो करें।

सांस पर ध्यान केंद्रित करें

एक बार ध्यान की मुद्रा में बैठ जाने पर अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करिए। सांस लेने और छोड़ने की क्रिया पर ध्यान लगाने के साथ ही उसकी गिनती भी करिए। 10 तक गिनने के बाद आप दोबारा फिर से गिनती शुरू कर सकते हैं।

गलती की चिंता न करें

यह मत सोचिए कि आप गलत कर रहे हैं या सही। दरअसल, मेडिटेशन का कोई परफेक्ट तरीका नहीं है, वैसे भी कोई भी व्यक्ति प्रैक्टिस से ही सीखता है। ज़रूरी यह है कि आप जो भी कर रहे हैं उससे आपको खुशी और संतुष्टि मिलनी चाहिए।

संबंधित लेख : मेडिटेशन के आसान विकल्प

मन को एकाग्र करने का आसान तरीका | इमेज : फाइल इमेज

विचारों को बाहर करने पर ज़ोर न दें

मेडिटेशन का यह मतलब नहीं है कि अपने दिमाग से विचारों को पूरी तरह निकाल दें, क्योंकि ऐसा संभव नहीं है। हो सकता है कई बार आपके दिमाग में कोई विचार न आए, लेकिन जब आते भी हैं तो चिंता की ज़रूरत नहीं है, बस आपको अपना ध्यान केंद्रित करने का अभ्यास करना है। यदि मन भटकने लगे तो थोड़ी ज़्यादा देर तक अभ्यास करें।

वॉर्मअप से कर सकते हैं शुरुआत

मेडिटेशन से पहले आप शरीर को वॉर्मअप करके लिए हल्का-फुल्का योग कर सकते हैं। इससे ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहेगा और शरीर की स्ट्रेचिंग भी हो जाएगी। फिर आरामदायक मुद्रा में बैठकर ध्यान लगाएं।

पहली बार मेडिटेशन करने वालों के लिए ध्यान की यह तकनीक कारगर होती हैः

  • ब्रिदिंग मेडिटेशन
  • माइडफुलनेस मेडिटेशन
  • फोकस मेडिटेशन
  • वॉकिंग मेडिटेशन
  • प्रोग्रेसिव मसल्स रिलैक्सेशन मेडिटेशन
  • मंत्र मेडिटेशन

और भी पढ़िये : क्या आप नाखून चबाते हैं, तो हो जाएं सावधान

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और  टेलीग्राम  पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
8
बहुत अच्छा
3
खुश
4
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ