Now Reading
बच्चों को मोटिवेट करने के तरीके

बच्चों को मोटिवेट करने के तरीके

जब भी आप बच्चों को अपने अनुभव बताते है या उन्हें अपनी स्ट्रगल की कहानी सुनाते है, तो वह काफी दिलचस्पी लेकर सुनते है। अगर आप उन्हें डांटते हुए कुछ भी बात बताएंगे, तो वह आपकी बात को कभी भी ध्यान से नहीं सुनेंगे। इसलिए उन्हें जब भी अपनी मेहनत या सफलता की बातें बताएं, तो प्यार से समझाएं ताकि वह स्ट्रगल और सैक्रिफाइस का महत्व समझें। याद रखें, किसी भी क्षेत्र में कामयाबी हासिल करने के लिए मोटिवेशन सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है। खासकर बच्चे अपनों से प्रेरणा पाकर बहुत जल्दी नया सीखते हैं।

चीयरलीडर बनें

बच्चों की खुशियों में अपनी खुशियां तलाशें। उनके खेलों में हिस्सा लें और अगर वे जीतते हैं, तो उनकी कामयाबी को सेलिब्रेट करें। इससे उन्हें अहसास होगा कि आप उन्हें सपोर्ट कर रहे हैं। इससे वे अच्छा फील करेंगे और ज्यादा बेहतर खेलने के लिए प्रेरित होंगे। यदि बच्चे की कुछ दिन बाद परीक्षा है, तो उससे कहें कि मुझे विश्वास है कि वह अच्छे अंकों से पास होगा। इससे उसका मनोबल बढ़ेगा और वह अच्छे अंक पाने के लिए प्रेरित होगा। यानी, उसे यह बताने में कतई देर न करें कि आप उसके प्रयासों की कितनी सराहना करते हैं।

मोटिवेशन से मिलता है आत्मविश्वास | इमेजः फाइल इमेज

मेहनत का इनाम दें

अगर बच्चा खेल या फिर पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन कर रहा हो, तो आप उसकी प्रशंसा करने के साथ-साथ उसे इनाम भी दें। यह बच्चों को मोटिवेट करने का अच्छा तरीका है। ऐसा करने पर आपका बच्चा कड़ी मेहनत करेगा, क्योंकि उसे पता है कि मेहनत का उसे इनाम मिलेगा। इनाम सिर्फ पैसे या गिफ्ट देकर नहीं होता बल्कि आप बच्चे को गले लगाएं, उसे एहसास दिलाएं कि आपको उन पर गर्व है। साथ ही, दूसरों के सामने अपने बच्चे की तारीफ करें और उसकी पॉज़िटिव बाते लोगों को बताएं। जब आपका बच्चा ऐसी बातें सुनेगा, इससे वह मोटिवेट तो होगा ही, साथ ही उससे भी ज्यादा बेहतर करने की कोशिश करेगा। 

See Also
बेहतर जीवन में पॉज़िटिव सोच की अहम भूमिका

रुचियों के बारे में जाने

आपका बच्चा जो काम मज़े से करता है, उसे वह काम करने के लिए प्रोत्साहित करें। आप उसमें बच्चे की मदद कर सकते है। बच्चा चाहे अच्छा करता है, या बुरा, आपको हमेशा उनके साथ सहानुभूति दिखानी होगी कि आप उनकी कैसे मदद कर सकते हैं? इससे उन्हें अपनी ज़िम्मेदारी का एहसास कराया जा सकता है।

क्षमताओं पर रखें नजर

हर बच्चा एक जैसा नहीं होता और हर किसी की क्षमताएं भी समान नहीं होती। ऐसे में आप आंकलन करें कि आपके बच्चे की खासियत क्या है? चाहे पढ़ाई की बात हो या खेल की या फिर कलात्मक प्रतिभा की, आपको उसकी प्रतिभा के हिसाब से उसे मोटिवेट करना चाहिए। इससे बच्चा उस क्षेत्र विशेष में बेहतर प्रदर्शन करने में सक्षम होगा। इसके लिए बच्चे से समय-समय पर बातचीत करें और उसकी समस्याओं का समाधान करने की कोशिश करें। ऐसे छोटे-छोटे तरीकों से आप अपने बच्चे को मोटिवेट कर सकते है।

और भी पढ़े: बच्चों की पढ़ाई के लिए शिक्षक बना ड्राइवर

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
1
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
4
बहुत अच्छा
4
खुश
1
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ